chandi devi

नीलधारा- गंगा की बाँई ओर नीलपर्वत के नीचे बहती जलधारा नीलधारा कहलाती है। वास्तव में यही धारा गंगा की मुख्यधारा है। हर की पैड़ी व अन्य घाटों पर बहती गंगा कृत्रिम रूप में लाई गई है। इतिहासकारों का कहना है, पहले गंगा मायापुर, कनखल से लेकर ज्वालापुर आदि के पश्चिम की ओर बहती थी। कालान्तर में उसने मार्ग बदला और आज उस तरपफ बह रही है, जहाँ नीलधारा है।