chandi devi

हरिद्वार में शिवालिक पर्वत  पर स्वतः प्रकट मां  चंडी  देवी  पूज्य है और ऐसी मान्यता  है  कि जो भी भक्त सचे मन ,आस्था और श्रद्धा के साथ मां चंडी  की पूजा और आराधना करता है उसकी  सभी  कामनाएं  पूरी होती है  और उसके  सभी दुःख दूर हो जाते  है। खासकर नवरात्र में मां चंडी देवी  की पूजा आराधना करने का  विशेष लाभ  मिलता है और मां प्रसन्न होकर आशीर्वाद देती है और सभी  मनोकामनाएं पूरी करती है

इसलिए नवरात्र में  मां  के  भक्त  दूर-दूर से यहां आकर  मां  की  पूजा आराधना करते है और हर कष्ट को हंसते हुए सह लेते  है। वहीं चंडी मंदिर ट्रस्ट द्वारा पैदल मार्ग पर जल, बिजली की व्यवस्था भी की जाती है जिससे आने वाले श्रद्धालुओं को कोई परेशानी न हो।

वैसे तो नवरात्रों में माँ दुर्गा की आराधना करने का विशेष महत्व है और नवरात्र के नौ दिनों में  मां की विभिन्न नौ स्वरूपों की आराधना की जाती  है। नवरात्र में हरिद्वार में खास रौनक रहती है और यहां पर देश के कोने-कोने से मां  की  पूजा करने के लिए भक्त हरिद्वार आते है और मां के अलग-अलग रूपों  की पूजा करते है। हरिद्वार  में इसके अलावा माया देवी मंदिर और मनसा  देवी के मंदिर भी है  और इनकी भी यहां पर आराधना की जाती है ।